रविवार, 27 दिसंबर 2009

पिच खराब..दर्शकों का क्या दोष



रविवार को देश की राजधानी दिल्ली के फिरोजशाह कोटला मैदान पर खेला गया भारत और श्रीलंका के बीच पांचवें और अंतिम एक दिवसीय क्रिकेट मैच को पिच पर असीमित उछाल आने के कारण रद्द कर दिया। जिससे स्टेडियम में उपस्थित दर्शकों के बीच मायूसी छा गई थी।
ऐसा होना भी लाजिम था क्यों मुंह मांगा पैसा देने के बाद भी दर्शकों को वन डे क्रिकेट मैच देखने को नहीं मिला, आज रविवार होने के कारण कई दर्शकों ने सोचा था कि रविवार की छुट्टी का पूरा सदुपयोग वन डे देखकर किया जाए। लेकिन मैच प्रारंभ होने के कुछ ही समय बाद मैच को रद्द कर दिया गया।
हालांकि मैच के रद्द होने से कोई ज्यादा फर्क नहीं पड़ा क्यों भारत पहले ही यह सीरीज जीत चुका है। लेकिन हमें दर्द है उन दर्शकों की पीड़ा का जिन्होंने ने मुंह मांगे पैसे खर्च कर वन डे के लिए लंबी लाइन में लगकर टिकट खरीदे थे, सुबह से सारे काम छोड़कर स्टेडियम में आ जमे थे। उन्होंने सोचा था वनडे देखकर सन डे का पूरा मनोरंजन करेंगे। लेकिन मैच रद्द होने के बाद स्टेडियम में मौजूद पचास हजार दर्शकों की उम्मीदों पर पानी फिर गया।
स्टेडियम में मौजूद हर क्रिकेट प्रेमी का चेहरा यह पूछ रहा था पिच खराब थी तो मैच का आयोजन यहां क्यों किया गया? यदि पिच असीमित उछाल ले रही थी तो मैच रद्द करने के बाद वहां प्रदर्शन मैच (शो मैच) खेलकर खिलाड़ी उन दर्शकों का मनोरंजन तो कर सकते थे जिन्होंने इस वनडे को देखने के लिए टिकट खरीदे थे।

1 टिप्पणी:

lokendra singh rajput ने कहा…

sir ji sab ko khane khilane se furasat mile tb banayeinge na achhi pich..... darshko ki bhavna ka khayal kise hai... sb paisa banane mein lage hai....